Daily Archives: January 1, 2015

नए वर्ष के आगमन पर..(कँवल भारती)

Originally posted on Hillele:
नया वर्ष तू क्या लेकर आया है? आशाएं विश्वास हमें तो करना ही है क्यों न करेंगे? करते ही आये हैं. वांच रहे हैं लोग राशियाँ राशिफल में कुछ के चेहरे मुरझाये हैं, कुछ के फिर…

Posted in Uncategorized | Leave a comment